छोड़कर सामग्री पर जाएँ

हवाई चप्पल बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | Start Slipper Manufacturing Business Ideas in Hindi

4.6
(62)

आज हम जानेंगे :-हवाई चप्पल बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें, Start Slipper Manufacturing Business Ideas in Hindi, चप्पल बनाने वाली मशीन की कीमत India, chappal banane ki machine(चप्पल बनाने की मशीन), चप्पल बनाने की विधि, chappal kaise banate hain, chappal ka business तो चलिए जानते हैं चप्पल का बिजनेस कैसे शुरू करें?

हमारे देश में चप्पल हर प्रकार के लोग पहनते हैं, फिर चाहे वो अमीर हो या गरीब क्योंकि स्लिपर चप्पल बहुत ही आरामदायक होती है. सुबह और शाम के समय तो इसके अलावा कोई ऑप्शन ही नहीं है. चप्पल का अधिक उपयोग हम सब घर पर करते हैं. आजकल मार्किट में आकर्षक चप्पलें भी आने लगी हैं जिन्हें हम बाहर भी आसानी से पहनकर जा सकते हैं. आज हम इन्हीं चप्पल बनाने के बिजनेस की बात करने वाले हैं. चप्पल बनाने के बिजनेस से लोग हर महीने लाखों कमा रहे हैं.

यहाँ आप ये सब पढ़ेंगे (Topic Shortcut) छुपाएं

हवाई चप्पल रॉ मटेरियल प्राइस (Hawai Chappal Raw Material Price)

रॉ मटेरियल(कच्चे माल) में हवाई रबर शीट्स जो 350 प्रति शीट , स्ट्रैप्स शीट्स 4 प्रति मीटर की दर से एवं पैकेजिंग के लिए अपने हिसाब से पैकिंग पसंद कर सकते हो. हवाई चप्पल रॉ मटेरियल प्राइस शीट की क्वालिटी के अनुसार अलग-अलग होता है.

hawai chappal raw material कहाँ से खरीदें 

चप्पल बनाने के लिए आवश्यक कच्चे सामान को हम ऑनलाइन वेबसाइट (जैसे: IndiaMart) के माध्यम से मंगवा सकते है जो डायरेक्ट मैन्युफैक्चरर से आता है. या आप अपने नजदीकी किसी डीलर से भी खरीद सकते हैं. जो आपको अधिक किफायती लगे आप वहां से ही खरीदें.

  • https://www.indiamart.com/
  • https://india.alibaba.com/

आप इन्हें भी पढ़ सकते हैं :-

चप्पल बनाने की मशीन (Slipper making machine)

हवाई चप्पल बनाने के बिजनेस के लिए आवश्यक मशीनें और टूल्स (chappal banane wali machine)

1    सोल कटिंग मशीन (हैण्ड ऑपरेटेड/ स्वचालित-बिजली)
2      होल मेकिंग ड्रिल मशीन
3      फिनिशिंग / ग्राइंडिंग मशीन
4      विभिन्न साइज़ के लिए अलग-अलग डाई
5      हैण्ड ओपरेटेड स्ट्रेप फिटिंग टूल
चप्पल बनाने वाली मशीन (chappal banane wali machine)
चप्पल बनाने की मशीन | Slipper making machine
chappal banane ki machine : 1. सोल कटिंग, 2. स्ट्रेप फिटिंग, 3. होल ड्रिल, 4. ग्राइंडर

चप्पल बनाने वाली मशीन कहां मिलेगी (chappal banane ki machine kahan milegi )

स्लीपर चप्पल बनाने की मशीन, जो सभी उपर बताई गई है, को आप ऑनलाइन मंगवा सकते हैं, INDIAMART पर देश के बहुत से मैन्युफैक्चरर जुड़े हुए हैं.

आप amazon पर भी देख सकते हैं अगर आपको पसंद आए तो मंगा सकते हो. नीचे दिए बटन पर क्लिक कर amazon पर देखें

चप्पल बनाने वाली मशीन की कीमत कितनी है (Slipper Making Machine Price)

स्लिपर चप्पल बनाने का व्यापार करने के लिए इन सभी मशीन को खरीदने की जरूरत है. जिसके लिए आपको 40 हजार से 60 हजार तक खर्च करने पड़ेंगे.

चप्पल बनाने की मशीन की कीमत india (chappal banane ki machine)

अगर आप अपने बिजनेस को बड़े स्तर पर करना चाहते हो तो उसके लिए ज्यादा तेजी से काम करने वाली मशीनों की आवश्यकता होगी जो बिजली से चलती है. तब आप हाथ से चलने वाली मशीनों के साथ बिजनेस नहीं कर पाओगे. लेकिन शुरुआत में आप कम पूंजी के साथ करना चाहते हो तो हाथ से चलने वाली मशीनों से शुरु कर सकते हो.

       मशीन        कीमत (रुपयों में)
स्लिपर सोल कटिंग मशीन50,000 – 1,20,000
स्लिपर ड्रिल मशीन8,000 – 15,000
स्लिपर स्ट्रैप फिटिंग मशीन3,000 – 10,000
स्लिपर ग्राइंडर मशीन4,000 – 8,000
स्लिपर सोल कटिंग डाई (Slipper Sole Cutting Die)500 – 1,000
chappal ka business ( चप्पल बनाने वाली मशीन की कीमत तालिका)

चप्पल बनाने की विधि (chappal kaise banate hain)

चप्पल बनाने के लिए किसी खास प्रशिक्षण की आवश्यकता नहीं होती है, इसे एक दो बार बताने के बाद कोई भी व्यक्ति आसानी से कर सकता है. चप्पल के आकार को देखकर समझ सकते हैं कि इसे बनाने में कितना कम समय लगता है. हवाई चप्पल बनाने की विधि हम आज आसान शब्दों में जानने की कोशिश करेंगे.

चप्पल कैसे बनता है स्टेप्स:-

  • सर्वप्रथम आपको उचित डाई को सेलेक्ट करना जिसकी चप्पल आपको तैयार करनी है, डाई अलग-अलग नाप के हिसाब से बनी होती है
  • उसके बाद में स्लिपर शीट लेते हैं और सोल कटिंग मशीन द्वारा सोल काटना शुरू करते हैं, एक ही डाई से एक पूरी शीट काटना बेहतर रहता है जिससे शीट का सही इस्तेमाल हो सके.
  • कटे हुए सोल की ग्राइंडर की मदद से फिनिशिंग करते हैं
  • सोल कटिंग के दौरान डाई द्वारा स्लिपर स्ट्रेप के लिए निशान हो जाते हैं, जिन्हें ड्रिल द्वारा उचित आकार दे दिया जाता है.
  • अब स्ट्रेप को इन होल में फिट करना होता है जिन्हें में स्ट्रेप फिटिंग मशीन से आसानी से कर देते हैं.
  • अब बारी आती पैकिंग की, इसके लिए आप अपने ब्रांड नेम से बॉक्स बनवाकर इन्हें उनमें पैक कर सकते हो या जेनेरिक बॉक्स में भी पैक कर सकते हो.

मार्किट में प्रोडक्ट से पहले पैकिंग बिकती है तो पैकिंग को आकर्षक बनाने पर विशेष ध्यान दे, अगर सम्भव हो तो बॉक्स डिज़ाइनर से बॉक्स की डिजाइन तैयार करवाएं.

चप्पल बनाने के व्यापार के लिए आवश्यक लाइसेंस 

यदि आप यह व्यापार छोटे स्तर पर शुरू करने का सोच रहे हैं, तो आपको उद्योग आधार या भारत सरकार के MSME के अंतर्गत अपने बिजनेस का रजिस्ट्रेशन करना होगा. इसके अलावा आपके द्वारा बनाए गये ब्रांड नेम को भी आईएसआई के अंतर्गत रजिस्टर करना होगा. व्यापार के दौरान किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं आए, इसके लिए आपको ट्रेड लाइसेंस लेना होगा, फर्म के नाम से करंट बैंक अकाउंट, पैन कार्ड आदि भी करवाने की आवश्यकता है.  

चप्पल के लिए पैकिंग (packaging for slippers)

पैकेजिंग में आप कार्टून का प्रयोग करोगे, इसमें आप जेनेरिक बॉक्स मंगवा सकते हो या अपने ब्रांड नेम के बॉक्स बनवा सकते हो. अगर आप अपने बिजनेस को बड़े स्तर पर करने का सोच रहे हो तो हमेशा अपने ब्रांड का ही बॉक्स बनवाए जिससे आपकी पब्लिसिटी हो. बॉक्स की डिजाईन को आकर्षक बनवाए जिससे वो ग्राहकों को लुभा सके. अच्छी से अच्छी चप्पल भी बिना बॉक्स के एकदम घटिया क्वालिटी में गिनी जाती है. इसका मतलब है कस्टमर को प्रोडक्ट से पहले पैकिंग बेहतर चाहिए तभी वो प्रोडक्ट को देखना चाहेगा.

आप अपने बॉक्स के डिजाईन को डिज़ाइनर से तैयार करवाए और एक अच्छा सा डिजाईन अपने लिए बनवाए. कस्टमर को बॉक्स देखकर ऐसा लगना चाहिए की ये ब्रांड बहुत बड़ा है और इसके प्रोडक्ट भी कमाल के होंगे. इससे आपको इन्हें बेचने में मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी.

चप्पल बनाने के व्यापार के लिए मार्केटिंग (marketing plan for slippers)

चप्पल एक आम प्रोडक्ट है जिसकी मार्केटिंग करना एकदम आसान है, क्योंकि इस प्रोडक्ट को सभी लोग बारीकी से जानते हैं. बस आपको उन्हें एक अच्छी पैकिंग और प्रोडक्ट देना है और वो लेने के लिए तैयार. ये एक कम समय के लिए काम आने वाला सस्ता प्रोडक्ट है इसलिए कस्टमर इसे लेने में ज्यादा हिचकिचाता नहीं है. अगर लेने के बाद उससे बेहतर क्वालिटी मिल जाती है तो ये आपके ब्रांड को ऊँचाइयों पर लेके जा सकता है.

आप अपने आसपास की दुकानों और मॉल में जाइए और उन्हें अपना प्रोडक्ट दिखाए और बेचने के लिए सम्पर्क करें. कोई विक्रेता आपके प्रोडक्ट नहीं भी खरीदता है तो आप उनके पास अपने कुछ प्रोडक्ट रखिए और कहिए की बिकने पर पेमेंट कर देना. अगर आपके प्रोडक्ट अच्छे से बिके तो अगली बार विक्रेता आपसे खुद बोलेगा की इतना माल हमें भेज देना. बिजनेस में क्वालिटी और विश्वास बनाए रखे, बस आपका बिजनेस चल निकलेगा.

चप्पल का व्यापार स्थापित करने के लिए आवश्यक स्थान (how much space required for slipper making business)

चप्पल बनाने बिजनेस के लिए आवश्यक स्थान थोडा अधिक होता है क्योंकि इसकी मशीनें और कच्चा माल काफी स्थान घेरता है. और मशीनों के अलावा भी आपको काम करने के लिए जगह चाहिए और साथ ही तैयार माल रखने के लिए एक स्थान चाहिए. इन सबको को ध्यान में रखते हुए कम से कम 600 वर्गफुट का स्थान चाहिए, थोडा अच्छे से आराम से कार्य करना चाहते है जिसमे कोई परेशानी नहीं हो तो आपको 1000 वर्गफुट तक की आवश्यकता होगी.

चप्पल का व्यापार स्थापित करने की कुल लागत (slipper making business cost)

सभी प्रकार के बिजनेस में कोई फिक्स लागत नहीं होती है. बस हमें कम से कम लागत में शुरू करना है तो हम एक आईडिया ले सकते हैं की chappal ka business करने में हमे निम्न लागत आ सकती है.

व्यापार स्तर चप्पल उत्पादन
(अनुमानित प्रतिदिन )
लागत (रुपयों में)
छोटे स्तर पर
(हाथ से चलने वाली मशीनें)
लगभग 50 से 10050 हजार तक
मध्यम स्तर
(बिजली से चलने वाली मशीनें)
100 से 1000 तक1 लाख से 2 लाख तक
बड़े स्तर पर
(वर्कर + बिजली से चलने वाली हाई स्पीड एंड एडवांस मशीनें)
1000-5000 प्रतिदिन4 लाख से 6 लाख तक
चप्पल बनाने के बिजनेस पर अनुमानित लागत राशि तालिका

चप्पल बनाने के व्यापार में लाभ (Slipper Making Business Profit)

आम तौर पर एक अच्छी स्लीपर बनाने की कुल लागत 30 से 40 रुपए तक आती है. ये स्लीपर बाज़ार में कुल 90- 100 रुपए के मूल्य पर आसानी से बिक्री पाती है. यदि आप प्रतिदिन कम से कम 8 घंटे तक मशीन की सहायता से स्लीपर चप्पल बनाते हैं, तो पुरे दिन में छोटे स्तर पर 100, माध्यम स्तर पर 1000  और बड़े स्तर क़रीब 4000 स्लीपर बनाए जा सकते हैं. इस हिसाब से आप लाभ का अनुमान लगा सकते हैं, जिसमे आपका वर्कर का खर्चा, बिजली, यातायात, मार्केटिंग और अन्य खर्च शामिल करने के बाद अनुमानित राशि छोटे स्तर पर 10000 रु और बड़े स्तर पर 1 लाख रूपये से अधिक कमा सकते हैं.

चप्पल बनाते समय क्या सावधानियाँ रखें (slipper making precautions)

चप्पल से जुडी सावधानियाँ:-

  • चप्पल की क्वालिटी के साथ छेड़छाड़ ना करें, हमेशा क्वालिटी बेहतर रखें.
  • सस्ते माल के चक्कर में ना पड़े, इससे आपके प्रोडक्ट की क्वालिटी खराब हो सकती है.
  • चप्पल बनाते समय फिनिशिंग का अच्छे से ख्याल रखे, ये ग्राहकों को लुभाने में कामयाब होती है.
  • डाई अच्छी क्वालिटी की रखे जिससे कटिंग में फिनिशिंग अच्छी रहें और ग्राइंडर में ज्यादा समय ना लगे
  • एक शीट पर एक ही डाई नंबर से कटिंग करें जिससे शीट का पूरा उपयोग किया जा सके, शेष हिसा कम रहे.
  • शीट और चप्पल स्ट्रेप के कलर का ध्यान रखें, मैचिंग कलर की स्ट्रेप ही जोड़ें जिससे ग्राहक को चप्पल पसंद आए
  • पैकिंग सुंदर चुने
  • कीमत और मार्जिन हमेशा उचित रखें

खुद की सुरक्षा से जुडी सावधानियाँ:-

  • ग्राइंडर के समय हमेशा मास्क लगाए
  • बिजली के तारों को सुरक्षित करें
  • पैरो में जूते पहनकर रखें
  • सोल काटते समय सावधान रहे, अंगुलियाँ डाई में ना आ जाए
  • ग्राइंडर करते समय हाथ में दस्ताने जरुर पहने

आज आपको इस लेख में चप्पल का बिजनेस कैसे शुरू करें, के बारे में सभी आवश्यक जानकारियां देने की कोशिश की गई है. आप हमें कमेंट कर बताए आपको ये लेख कैसा लगा.

इन्हें भी पढ़ें :-

FAQs – Slipper Manufacturing Business Ideas in Hindi

  1. चप्पल बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

    chappal ka business kaise shuru karen : सबसे पहले चप्पल बनाने के लिए उचित स्थान की व्यवस्था करें फिर आवश्यक मशीनरी को ऑनलाइन या ऑफलाइन मंगवाए और उन्हें स्थापित करें. सेलर से मशीनरी का उपयोग एक दो बार सीखे , अब आप खुद बनाना शुर करें. जब आप चप्पल बनाने लग जाओ तो इनकी पैकिंग करें और बाजार में बेचें.
    इस लेख में चप्पल बनाने के व्यापार के बारें में विस्तार से बताया गया है. आप पढ़ सकते हैं

  2. हवाई चप्पल का रॉ मटेरियल कहाँ मिलता है?

    हवाई चप्पल का रॉ मटेरियल आजकल ऑनलाइन आसानी से मिल जाता है, आप INDIAMART पर आसानी से सर्च कर इसे मंगवा सकते हो.

  3. हवाई चप्पल रॉ मटेरियल की लागत क्या है?

    (अनुमानित) रॉ मटेरियल(कच्चे माल) में हवाई रबर शीट्स जो 350 प्रति शीट , स्ट्रैप्स शीट्स 4 प्रति मीटर की दर से

  4. स्लीपर चप्पल बनाने की मशीन कहां मिलती है?

    स्लीपर चप्पल बनाने की मशीन ऑनलाइन आसानी से मिल जाती है, इसे आप INDIAMART से डायरेक्ट मैन्युफैक्चरर से खरीद सकते हो, या उनसे सम्पर्क कर के, उनके स्थान पर जाकर भी ला सकते हो. ऑनलाइन सप्लायर की बड़ी लिस्ट है, आप सर्च करोगे तो बहुत से सेलर आपको मिल जाएंगे.

  5. चप्पल बनाने वाली मशीन की कीमत कितनी हैं?

    मशीनें बहुत प्रकार की आती है, जिसमें छोटी, मध्यम और बड़ी मशीनें शामिल है. अगर आप छोटी मशीने खरीदते हो तो ये लगभग 50 हजार तक आसानी से मिल जाती हैऔर आप बड़े स्तर पर करते होतो 2 से 3 लाख रूपये लग जाते है.

  6. चप्पल बनाने के लिए कौन-कौन सी मशीने चाहिए?

    सोल कटिंग मशीन , स्लिपर ड्रिल मशीन, स्लिपर स्ट्रैप फिटिंग मशीन, सोल ग्राइंडर मशीन, सोल कटिंग डाई

  7. हवाई चप्पल कैसे बनती है?

    सबसे पहले डाई की मदद से सोल काटा जाता है फिर ड्रिल से स्ट्रेप डालने के होल किए जाते, होल होने के बाद स्ट्रेप डाली जाती है और इस तरह एक चप्पल तैयार होती है. विस्तार से जानने के लिए लेख में पढ़ें.

😊 यह पोस्ट कितनी अच्छी थी?

5 Star देकर इसे बेहतर बनाएं ⬇️

Average rating 4.6 / 5. Total rating : 62

रेटिंग देने वाले पहले व्यक्ति बनें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

“हवाई चप्पल बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | Start Slipper Manufacturing Business Ideas in Hindi” पर 3 विचार

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.