छोड़कर सामग्री पर जाएँ

रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस कैसे शुरू करें? | online readymade garments business plan in hindi in india

5
(17)

Readymade Garments Business Plan in Hindi – कपड़ो का व्यापार (cloth business ideas in hindi) सबसे ज्यादा ट्रेंडिंग बिज़नेस में से एक है. ट्रेंडिंग बिज़नेस होने का कारण है, कपड़े का बहुत जरूरी होना और बार-बार आवश्यकता पड़ना. ये एक बेहतरीन बिजनेस आईडिया है जिसकी डिमांड समय के साथ बढ़ेगी ही, कभी कम नहीं होगी.

रेडीमेड गारमेंट के बिज़नेस में प्रॉफिट बहुत है और साथ ही कस्टमर भी हर व्यक्ति है,क्योंकि कपड़े  तो हर व्यक्ति को पहनने होते हैं तो ये सबसे ज्यादा कस्टमर रखने वाला बिज़नेस है. कपड़े के बिज़नेस में सबसे ज्यादा वैरायटी होती है और समय के साथ बहुत जल्दी बदलती है. जिस कपड़े का भी ट्रेंड आता है वो उपलब्ध होना चाहिए वरना आप बिज़नेस में पिछड़ जाओगे. गारमेंट्स में ट्रेंड के साथ सफर करना पड़ता है, जिस कपड़े का ट्रेंड जाता है उसे वापिस करना, वापस करने वाला कपड़ा नहीं है तो उसे ऑफर के साथ बेचना होता है.

कोई भी बिज़नेस आसान नहीं होता, उसमें हमें उसके सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए स्टार्ट करना होता है. आज हम रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस के सभी पहलुओं पर प्रकाश डालने की कोशिश करेंगे, जिससे आप जब भी बिज़नेस करो, इस बिज़नेस के पूरे पहलू आपके दिमाग में रहे और आप एक सक्सेसफुल बिज़नेसमैन बने. तो आइये जानते हैं रेडीमेड कपड़े की दुकान कैसे खोलें.

यहाँ आप ये सब पढ़ेंगे (Topic Shortcut) छुपाएं
2 रेडीमेड कपड़े की दुकान कैसे खोलें

रेडीमेड कपड़ा क्या होता है | readymade vastra kya hai

ऑनलाइन प्लेटफार्म और बाजार में उपलब्ध पहले तैयार कपड़ा जिसको हम तुरंत खरीदकर पहन सकते हैं, रेडीमेड कपड़े होते हैं. हमें आज ही किसी फंक्शन में जाना है तो हम तुरंत मार्केट से पहले बनी हुई ड्रेस अपने नाप की लेकर पहन सकते हैं. कभी कभार इनमें कुछ फिटिंग करनी पड़ सकती है. रेडीमेड कपड़ों का वर्तमान में काफी चलन है, अचानक किसी फंक्शन में जाना होता है तो हम उस समय दर्जी से कपड़ा नहीं सिला सकते हैं, तब रेडीमेड कपड़े हमारे लिए एक बेहतर विकल्प के रूप में उपलब्ध रहते हैं.

readymade garments business investment hindi, readymade garments shop design, readymade garments items list, garment business from home, readymade garments business plan in hindi
रेडीमेड कपड़े की दुकान बिजनेस प्लान

रेडीमेड कपड़े की दुकान कैसे खोलें

  • रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस का पूरा प्लान तैयार करें
  • कपड़ो का प्रकार चुने
  • सही स्थान का चयन करें
  • रेडीमेड कपड़े की दुकान का फर्नीचर
  • कपड़ों का आपूर्तिकर्ता ढूंढें
  • टारगेट कस्टमर को पहचाने

रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस का पूरा प्लान तैयार करें | readymade garments business plan in hindi

इस बिज़नेस में सबसे पहले आपको तय करना है कि आप क्या बेचना चाहते हैं. अगर आप कपड़ों को बेचना चाहते हैं तो इसमें बहुत सी वैरायटी होती है जिन्हें एक जगह बेचना मुश्किल है और ये फायदेमंद भी नहीं है. अगर हम सभी तरह के कपड़े बेचने लगेंगे तो ग्राहक भ्रमित होकर चले जाएंगे क्योंकि ज्यादा में निर्णय लेना मुश्किल हो जाता है.

रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस कैसे शुरू करें?

निम्नलिखित कुछ श्रेणियां हैं जिनमें से किसी एक पर आप विचार कर सकते हैं | readymade garments items list in hindi

  • जातीय या भारतीय कपड़े-साड़ी, सलवार सूट, पुरुषों के लिए कुर्ता पायजामा, आदि।
  • विशेष बच्चों का फैशन-शिशु से लेकर 12 साल के बच्चों तक के कपड़े
  • पुरुषों के कपड़े-सूट, शर्ट, पतलून, जैकेट, आदि।
  • महिलाओं की कैजुअल-स्कर्ट, जींस, टी-शर्ट आदि।
  • स्त्रियों के सूत्र
  • स्पोर्ट्सवियर- जर्सी, स्विमिंग सूट, फुटबॉल शॉर्ट्स आदि।
  • शादी का जोड़ा-साड़ी, लहंगा, शेरवानी, आदि।
  • नाइटवियर या इनरवियर
  • कॉस्ट्यूम कपड़े-स्टेज शो, नृत्य वेशभूषा, चरित्र वेशभूषा, आदि के लिए विशेष।
  • मातृत्व विशेष के कपड़े
  • सर्दी का पहनावा


रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस के लिए  कुछ  कुछ जानने योग्य टिप्स | Readymade Garments business ideas in hindi


हमें अपने एरिया में किसी भी तरह के कपड़ो का व्यापार(रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस) शुरू करने से पहले कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना जरूरी हो जाता है. रेडीमेड गारमेंट्स पूरी तरह से तैयार कपड़ा होता है जिसे हमें सिर्फ अपने ग्राहकों को बेचना होता है.
हमने एक लेख में बताया था कि बिना इन्वेस्ट के बिज़नेस कैसे करें वो भी फ्लिपकार्ट के साथ, आप अगर पार्टटाइम बिज़नेस करना चाहते हो तो इसे जरूर पढ़ें.
रेडीमेंट गारमेंट्स बिज़नेस शुरू करने से पहले कुछ चीजें है जिनपर हमें शोध करना चाहिए जिससे भविष्य में परेशानी ना हो. हम नीचे कुछ चीजें उल्लेख कर रहे है.

कपड़ो का प्रकार चुने | रेडीमेड गारमेंट्स टाइप

कपड़े के बिज़नेस में सबसे जरूरी चीज है, आप कैसे कपड़ों का बिज़नेस करना चाहते है. आपको अपने आसपास मार्किट में घूमकर देखना होगा कि कैसे कपड़ों की डिमांड पूरी नहीं हो रही है,जैसे- बच्चों, लड़के-लड़कियों, पुरुष-महिलाओं आदि में से आप कौनसे टाइप चुनना चाहते हो वो चुनो. आप अपने रेडीमेड गारमेंट्स स्टोर में एक प्रकार के कपड़े रखें, ये ज्यादा बेहतर रहेगा, आप चाहो तो अधिक प्रकार भी रख सकते हो.

हमारी राय के अनुसार आप शुरुआत एक प्रकार के कपड़े से करें.
बाजार में कपड़े की बहुत से वैरायटीज है. कई बार आपके साथ होता भी होगा, आप अपनी पसन्द का कपड़ा ढूंढ रहे होते हैं लेकिन पूरे मार्किट में घूमने के बाद भी खाली लौटना पड़ता है. ये सभी के साथ होता है.

लोगों की समस्या या आवश्यकता में ही आपका बिज़नेस है. बस आपको वो ही पहचानना है. आप मार्किट में उपलब्ध कपड़ों का बिज़नेस भी कर सकते हैं, बस ध्यान रहे आपको उनसे बेहतर करना होगा क्योंकि यहां आपको कंपीटिशन को मात देनी है.

सही स्थान का चयन करना

किसी भी रिटेल बिज़नेस में स्टोर की लोकेशन महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. स्थान को चुनते समय अपने बिज़नेस को ध्यान में रखें और सोचे की इसके लिए कैसा स्थान बेहतर रहेगा.

स्थान चयन व्यवसाय में एक महत्वपूर्ण घटक है. ग्राहकों को आकर्षित करने और आसान सम्पर्क रखने के लिए स्टोर हमेशा अधिक दिखने वाले स्थान पर करें. किसी ऐसी जगह ना करें जहाँ आपका स्टोर दिखना मुश्किल हो जाए.

किसी मॉल में दुकान खोलना बेहतर साबित हो सकता है, अगर आप कॉम्पीटिशन में खड़े रहने की काबिलियत रखते हैं. यदि आप ऐसे क्षेत्र में दुकान खोलते हैं जहाँ पहले से कपड़े की दुकानें नहीं है तो ग्राहकों की कमी खलेगी. इसलिए कॉम्पीटिशन से डरे नहीं और हमेशा कुछ नया अपनाते हुए आप आसानी से सफल बिज़नेस कर सकते हैं.
स्टोर ऐसा चुने जिसमें पर्याप्त जगह हो. स्टॉक, चेंजिंग रूम, शेल्फ और काउंटर्स आदि के लिए आसानी से जगह मिल जाए. ग्राहकों को दुकान तक पहुंचने में परेशानी नहीं होनी चाहिए. स्टोर को हमेशा साफ़ सुथरा रखें और कस्टमर्स की समस्या को दूर करते रहें.

रेडीमेड कपड़े की दुकान का फर्नीचर | कपड़े की दुकान का काउंटर

रेडीमेड कपड़े की दुकान का फर्नीचर बहुत ही मायने रखता है, ये आपकी कपड़े की दुकान की रोनक बढ़ा देता है इसलिए फर्नीचर थोड़ा आकर्षक बनवाए. कपड़े की दुकान के फर्नीचर में सफ़ेद कलर ज्यादा अच्छा रहता है, आप अपनी पसंद का आकर्षक कलर भी देख सकते हैं.

कपड़े की दुकान का काउंटर एक लम्बा काउंटर होता है क्योंकि इसमें काफी जगह चाहिए होती है. दुकान के किसी हिस्से में एक चेंजिंग रूम भी आवश्यक है जिससे ग्राहक वहाँ कपड़े पहनकर देख सके. इसलिए आपकी कपड़े की दुकान में चेंजिंग रूम जरुर लगवाए और उसमें शीशे भी लगवाए जिससे ग्राहक आसानी से पहने हुए कपड़े देख सके. साथ दुकान में किसी दीवार पर भी शीशा लगाए.

आप जब भी रेडीमेड कपड़े की दुकान का फर्नीचर लगवाओ, उससे पहले किसी अच्छी कपड़े की दुकान का काउंटर और फर्नीचर देख आओ और उससे थोड़ा आईडिया ले सकते हो. इसतरह आप कपड़े की दुकान में बेहतर काउंटर और फर्नीचर लगवा सकते हैं.

कपड़ों का आपूर्तिकर्ता ढूंढें

कपड़ों की कैटेगरी चुनने के बाद आपको रेडीमेड कपड़ों के थोक विक्रेताओं को ढूंढना होगा और उनमें से अपने लिए बेहतर चुनना होगा.
आप किसी ब्रांड के साथ भी टाई कर सकते हैं, अगर वो ब्रांड आपके शहर में उपलब्ध नहीं है. रेडीमेड कपड़े का होलसेल मार्केट खोजें

टारगेट कस्टमर को पहचाने

कपड़ों के बिज़नेस में आप सीधे ग्राहक को बेचते हो, और बिज़नेस से ग्राहक का माध्यम B2C कैटेगरी में आता है जो बिज़नेस टू कस्टमर मॉडल को शो करता है.
अपने कपड़ों के प्रकार के आधार पर आपको मालूम चल जाएगा कि आपके कस्टमर कौन होंगे – लड़के, लड़कियां, पुरुष या महिलाएं. कस्टमर का पता होने से आप अपने बिज़नेस के लिए बेहतर प्लान बना पाओगे की कैसे मार्केटिंग करनी है और इन कस्टमर को कैसे आकर्षित किया जा सकता है. भारत में लगभग महिलाएं ही कपड़ों की खरीददारी करती है और वे ही बाजार में स्टोर्स का चयन करती है, वर्तमान में पुरुष भी फैशन को लेकर काफी जागरूक है.

आवश्यक डाक्यूमेंट्स को ध्यान में रखें 

किसी भी तरह के बिज़नेस को स्टार्ट करने से पूर्व यह बहुत ही आवश्यक है की आप अपने आस पास के मार्केट और उनकी चॉइस को अच्छी तरह से पता करले. रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस में अपने एरिया के ट्रेंड्स पर नजर रखे और एक प्राइस क्राइटेरिया निश्चित करें. सभी क्षेत्र की खर्च क्षमता अलग-अलग होती है. ये वहां रहने वाले लोगों और डिपेंड करता है
किसी भी बिज़नेस को शुरू करने से पहले अपने एरिया के मार्किट की छानबीन करें.

रेडीमेड गारमेंट्स क्वालिटी का ध्यान रखें

गारमेंट्स में कंपीटिशन अधिक है तो इससे जीतने के लिए आपको क्वालिटी पर अधिक फोकस करना पड़ेगा. कपड़ों में नए-नए डिज़ाइन से अपडेट रहने के साथ क्वालिटी में कभी कमी ना करें, चाहे मार्जिन कम हो जाए.

रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस के लिए आवश्यक लाइसेंस |Licence for Readymade Garments Business

  • सभी बिज़नेस के लिए ट्रेड लाइसेंस की जरूरत होती है. जो हम लोकल मुनिसिपल्टी के द्वारा जारी करवा सकते हैं.
  • GST (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) का रेजिस्ट्रेशन आवश्यक होता है अगर आपका टर्नओवर 20 लाख से अधिक है, वैसे आप GST कम टर्नओवर में भी बना सकते हैं इससे कोई नुकसान नहीं है. ये आप किसी भी CA को हायर करके बनवा सकते हैं जिसका मामूली चार्ज ही लगता है.  

रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस में आवश्यक पूंजी कैसे प्राप्त करें

आप अगर बिज़नेस की सोच रहे हो तो पूंजी का भी अपने सोचा होगा. आवश्यक धन या तो आपके पास उपलब्ध है या आप इसकी व्यवस्था के लिए कुछ सोच रखा है. ये तो हमें पता है कि बिना पूंजी के हम बिज़नेस नहीं कर सकते हैं.

अगर आपके पास धन की उपलब्धता नहीं है तो आप इसके लिए परिजनों और दोस्तों की मदद ले सकते हैं, उन्हें अपना पूरा प्लान बताएं और फायदा भी बताएं जिससे उन्हें लगे की हमारा धन वापिस जल्दी ही आ जाएगा.

आप धन प्राप्त करने के लिए लोन का सहारा ले सकते हैं. बैंक ऋण आवेदन करने के लिए एक पूरी प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करें. जिसमें आपको आवश्यक वस्तुएं और उनका एस्टीमेट प्राइस लिखना होगा. बिज़नेस प्रोजेक्ट रिपोर्ट में फर्नीचर, डेकोरेशन, स्टाफ सैलरी(2 माह की), बिजली व्यव्स्थाका खर्चा, कंप्यूटर, कपड़े का स्टॉक आदि सबका ब्यौरा टियर करें और बैंक में लोन के लिए अप्लाई करें. प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाना आपको कठिन लगता है तो आप किसी CA से सम्पर्क कर उसे अपना प्लान बताए और रिपोर्ट तैयार करवाएं.

साथ ही आप बाजार विश्लेषण करके, बिक्री और लाभ की अनुमानित गणना पेश करें. ये रिपोर्ट आपके बिज़नेस में भी फायदेमंद होगी. इस रिपोर्ट के साथ अपने निवेशकों या बैंक से सम्पर्क करें और उन्हें संतुष्ट करें.

मार्केटिंग प्लान तैयार करें

मार्केटिंग प्लान हमेशा बिज़नेस के अनुसार तैयार होता है. जिसमें टारगेट कस्टमर और जगह के अनुसार उचित रणनीति बनाएं. वर्तमान समय में बहुत से डिजिटल माध्यम उपलब्ध हैं. युवा पीढ़ी के लिए डिजिटल मार्केटिंग, महिलाओं के लिए पत्रिकाएँ, लोकल टीवी चैनल, अख़बार और बच्चों के लिए रंगीन पम्पलेट, बाल पत्रिकाएँ एवं अन्य.

कुछ तरीके हम आपको बताते हैं

  • डिजिटल मार्केटिंग : वर्तमान समय में सबसे प्रचलित मार्केटिंग माध्यम डिजिटल ही है. इसके लिए आप एक वेबसाइट बना सकते हैं, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे- Instagram, Facebook, Telegram और Youtube. इन सब पर आप अपने नए स्टॉक्स अपडेट करते रहिए. आप गूगल एड पर भी अपनी लोकेशन पर एड चलाकर लोगों तक अपने प्रोडक्ट्स की जानकारी और स्टोर का पता पहुंचा सकते हैं.
  • न्यूज़पेपर, पत्रिकाएँ : आप अपनेलोकल अख़बार और पत्रिकाओं में अपना विज्ञापन करवा सकते हैं, या अख़बार में पम्पलेट डलवा दीजिए.
  • स्पेशल ऑफर : बिज़नेस की शुरुआत में ग्राहकों को लुभाना पड़ता है. लुभाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है, अपने प्रोडक्ट्स पर ऑफर्स निकालना. स्पेशल ऑफ़र हमेशा तय समय के लिए प्रदर्शित करें और इसे बढ़ाते रहें. एक साथ लम्बी अवधि का ऑफर न करें.
  • ब्रांड के साथ जुड़ना : आपके क्षेत्र में जो ब्रांड उपलब्ध नहीं है उससे जुड़े और उसका प्रचार करें. ये आपके स्टोर को बहुत जल्दी चर्चित करेगा.
  • कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट : यह मार्केटिंग का सबसे अच्छा तरीका है, किसी ब्रांड या शॉप की कस्टमर मार्केटिंग करने लगे तो फिर बिज़नेस को कोई नहीं रोक सकता. अगर आप कस्टमर की अपेक्षाओं को पूरा करते हैं और उनका ध्यान रखते हैं तो वो आपसे खुश हो जाएगा. उसके साथ ऐसे बात करें जैसे वो आपके परिवार का सदस्य है. जो बिजनेसमैन कस्टमर को खुश करने में कामयाब हो गया वो ऊंचाई पर जाएगा, क्योंकि कस्टमर आपकी मार्केटिंग स्वयम अपने मुंह से करेगा और ज्यादा से ज्यादा ग्राहक आपके पास लेकर आएगा.
How to start online readymade garments business
How to start online readymade garments business

आवश्यक स्टाफ और उनकी सैलरी का खर्च

आपका स्टाफ आपके साथ-साथ आपके बिज़नेस को चलाने में कुशल होना चाहिए. अपने बिज़नेस के आधार पर, ग्राहक को डील करने वाले लोगों को रखें, जिन्हें कपड़ों, ट्रेंडिंग फैशन का अच्छा ज्ञान हो, और वे ग्राहकों को उचित सुझाव दे सकें. साथ ही आपके आसपास एक दर्जी भी हो जिससे कपड़ें की साइज़ में आवश्यक परिवर्तन करवाया जा सके.

आप बिज़नेस शुरू कर रहे हैं तो आपको स्टाफ की जरूरी कम ही होगी. स्टाफ के लिए ज्यादा बेहतर होगा आप शुरू में कम से कम सैलरी में रखें जिससे आप बिज़नेस को आसानी से रन कर सकें. शुरुआत में 1 से 2 स्टाफ की जरूरत रहेगी अगर आप सामान्य दुकान कर रहे हो, और ये आपको 5 से 7 हजार में आसानी से उपलब्ध हो जाएगा.

आप शुरू में मार्केटिंग का काम खुद संभाल सकते हो, अगर आप बड़े स्तर पर बिज़नेस करना चाहते हो तो मार्केटिंग के लिए भी आपको स्टाफ अलग से रखना पड़ेगा क्योंकि आप इतना सब हैंडल नहीं कर पाओगे.


क्या आप जानना चाहेंगे :- Business Tips

कपड़े के व्यापार में आवश्यक निवेश | readymade garments business plan in hindi


क्लोथिंग बिज़नेस में आपको शुरू में अधिक निवेश की आवश्यकता नहीं है, अगर आप एक प्रकार का कपड़ा चुनते हो. बहुत से लोग घर से भी शुरू करते है, जिनमें महिलाएं आगे हैं. अगर आप अच्छा खासा बिज़नेस करना चाहते होतो आपको मार्किट में एक स्टोर करना पड़ेगा. एक जगह चुनकर वहाँ स्टोर ढूंढें और उसे किराये पर लें, अगर आपका खुद का है तो फिर कोई चिंता ही नहीं है. स्टोर की डेकोरेशन में अधिक खर्चा ना करें लेकिन आवश्यकता अनुसार जरुर करें. डेकोरेशन, आवश्यक फर्नीचर, काउंटर आदि में अधिकतम एक लाख तक खर्च करें, आपके पास ज्यादा बजट है तो आप ज्यादा भी कर सकते हैं.

अब मार्किट के अनुसार आपको स्टॉक रखना होगा तो शुरू में आप कम स्टॉक्स रखे लेकिन वैरायटी अधिक रखें. किसी एक कपड़े या साइज़ में ज्यादा खर्च ना करें. आगे जिस हिसाब से बिकेंगे आप स्टॉक अपडेट करते रहें. अगर आप सामान्य स्टोर और सामान्य कपड़े(अच्छे और सस्ते भी) रखेंगे तो 2 लाख तक आप आसानी से अच्छा स्टॉक कर सकते हैं. कभी लालच में हलके कपड़ें ना बेचे, इससे आप एकबार तो मुनाफा कमा लोगे लेकिन कस्टमर वापिस लौटकर नहीं आएगा. इसलिए क्वालिटी पर कोम्प्रोमाईज़ ना करें.


कपड़े के बिज़नेस में मुनाफा और कीमत | readymade garments in hindi

ये तो हम सब जानते है कि कपड़ों में अच्छा मुनाफा है, इसमें हम 20 से 50 प्रतिशत तक लाभ कीमत में जोड़ सकते हैं. आप कीमत शुरू में डिस्काउंट पर काम करें जो ग्राहकों को लुभाता है. जैसे- 1000रु की खरीददारी पर 5%, 2000रु पर 10% डिस्काउंट रख सकते हैं. इससे कस्टमर ना चाहते हुए भी अधिक खरीददारी करेगा. डिस्काउंट हमेशा इतना रखें कि आपको उचित लाभ और कस्टमर को भी फायदा मिलें. ट्रेंड में ना रहने वाले कपड़ों को ऑफर प्राइस में बेचें.

ब्रांडेड कपड़ों में मार्जिन कंपनी तय करती है, लेकिन ब्रांड के कपड़े महंगे और ज्यादा बिकते हैं तो आपको अच्छा खासा मार्जिन हो जाता है.

भारत में रेडीमेड वस्त्र निर्माता | readymade garments in hindi

जब भी हम कपड़े का बिज़नेस करने की सोचते है तो एक बड़ी समस्या नजर आती है कि थोक में सस्ता कपड़ा कहाँ से खरीदे. हमने आपके लिए थोड़ी बहुत रिसर्च करके कुछ स्थान सेलेक्ट किए हैं जिससे आपको थोक विक्रेता खोजने में आसानी हो जाएगी. बिज़नेस बहुत से लोग करना चाहते हैं लेकिन उचित राय और थोक विक्रेता नहीं मिलने के कारण वे अपना आईडिया छोड़ देते हैं. इसी समस्या का समाधान सभी के लिए आज हम बता रहे है कि भारत में सबसे सस्ते कपड़े कहाँ मिलते है?

इन मार्केटो में मिलते सबसे सस्ते कपड़े : Where can I get the cheapest clothes in India?

  • मध्प्रदेश : बैरागढ़ मार्केट, चौक बाजार (पुराना भोपाल), जबलपुर मीना बाजार
  • नई दिल्ली : करोल बाग बाजार, गांधी मार्केट, कश्मीरी गेट बाजार
  • राजस्थान : जयपुर जौहरी बाजार, जोधपुरी होलसेल मार्केट, अरावली बाजार जयपुर
  • लुधियाना : घुमर मंडी मार्केट, करीमपुरा बाजार
  • गुजरात : न्यू टेक्सटाइल मार्केट सूरत, बॉम्बे मार्केट सूरत, राधाकृष्ण टेक्सटाइल 

स्टोर को ऑनलाइन ले जाना | online store in hindi

online store in hindi- वर्तमान का समय डिजिटलकरण का है, जिसका फायदा हमें भी उठाना चाहिए. ऑनलाइन के लिए हम एक ऑनलाइन वेबसाइट बना सकते हैं जिसमें हमारे प्रोडक्ट्स लिस्ट करके विज्ञापन कर पुरे देश में एक स्थान से बेच सकते है.

अगर हम खुद की वेबसाइट नहीं बनाना चाहते हैं तो Amazon Seller Central और Flipkart Seller Hub से जुड़ सकते हैं. यहाँ आपको सिर्फ अपने प्रोडक्ट्स लिस्ट करने है और जैसे ही आर्डर मिलेगा बस पैक करना है. लाने और ले जाने का काम ये खुद करेंगे. Amazon Seller Central से के बारे में जानने और जुड़ने के लिए आप अभी रजिस्टर हो सकते हैं. ये बिल्कुल फ्री है.

रेडीमेड गारमेंट्स व्यवसाय में जोखिम और सावधानियाँ

  • भारत में रेडीमेड गारमेंट्स का बिज़नेस काफी जोखिम भरा है. यहाँ वातावरण और धार्मिक विविधता बहुत अधिक है इसलिए कपड़ों का ट्रेंड्स भी अलग-अलग रहता है. रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस या तो बहुत बढ़ सकता है या ये जल्दी थप हो जाता है. भारत में दो सीजन हैं जब नए कलेक्शन को सर्दियों और गर्मियों में लॉन्च किया जा सकता है.
  • सीजन समाप्त होते वक़्त शेष कपड़ों को निकालना चुनौतीपूर्ण बन जाता है. इन्हें ऑफर्स और कम कीमत के साथ बेचना पड़ता है, वरना अगली सीजन तक धन रुक जाता है जो व्यापार में अच्छा नहीं है.
  • पुराने स्टॉक्स जिनका ट्रेंड्स खत्म हो रहा है, उन्हें ब्रांड कंपनी को वापस कर सकते हैं. अगर वापिस करने वाले नहीं है तो आप उन्हें भारी छूट पर बेच सकते हैं. यह आपको पूरे वर्ष की आर्थिक परेशानी से बचाएगा, क्योंकि स्टॉक्स का पड़े रहना नये स्टॉक्स लाने में समस्या खड़ा कर सकता है.

क्या आप जानना चाहेंगे :- business ideas in hindi

कुछ ध्यान रखने योग्य बातें

  • आपके द्वारा चुने गए सभी कपड़ों के थोड़े-थोड़े स्टॉक रखें, किसी एक का ज्यादा स्टॉक ना करें.
  • आपको एक अनुभवी सेल्समेन रखना चाहिए या आप थोड़ी बहुत बेचने की कला सीखें.
  • कपड़ों की जानकारी प्राप्त करते रहें और अपने ज्ञान को इस क्षेत्र में बढ़ाएं.
  • आवश्यक होने पर वर्कर रखें, ग्राहकों को इंतजार ना कराएँ.
  • ग्राहकों से मोलभाव करने में ना पड़ें. औसत मार्जिन के साथ फिक्स रेट तय करना ज्यादा अच्छा रहता है.
  • ग्राहकों के साथ मधुर रहें और उन्हें प्रेम पूर्वक पुकारें.
  • ग्राहकों से रिश्ता बनाए, न की उनके साथ धोखा करें.

FAQs About readymade garments business plan in hindi

  1. भारत में रेडीमेड गारमेंट्स का बिजनेस कैसे शुरू करें?

    रेडीमेड गारमेंट बिजनेस प्लान तैयार करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए: business ideas in hindi
    1. कपड़े का एक प्रकार ढूँढना
    2. प्रकार के अनुसार कस्टमर पहचानना
    3. आपूर्तिकर्ता ढूँढना
    4. अपना लक्ष्य स्थान या स्टोर बनाना
    5. स्टोर को अंतिम रूप देना
    6. फंड/निवेश की व्यवस्था करना
    7. व्यवसाय को कानूनी रूप से पंजीकृत करना
    8. अपने मैन्युफैक्चरर या डिस्ट्रीब्यूटर से मिलना
    9. स्टॉक सूची प्रबंधन
    10. सही स्टाफ की भर्ती
    11. उत्पाद मूल्य या मार्जिन निर्धारण
    12. अपने व्यवसाय की मार्केटिंग

  2. एक गारमेंट की दुकान में कितना लाभ होता है?

    सामान्य तौर पर, कपड़ा बाजार का लाभ 30% और 60% के बीच कहीं भी रहता है। लेकिन अंतरराष्ट्रीय और घरेलू ब्रांडों के लिए मार्जिन दर धीरे-धीरे बढ़ती है। कुछ ब्रांडों पर, शुरुआती लाभ मार्जिन आसानी से 50% से ऊपर है ।

  3. मैं रेडीमेड गारमेंट बिज़नेस कैसे शुरू करूं?

    रेडीमेड गारमेंट बिजनेस प्लान तैयार करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए:
    1. कपड़े का एक प्रकार ढूँढना
    2. प्रकार के अनुसार कस्टमर पहचानना
    3. आपूर्तिकर्ता ढूँढना
    4. अपना लक्ष्य स्थान या स्टोर बनाना
    5. स्टोर को अंतिम रूप देना
    6. फंड/निवेश की व्यवस्था करना
    7. व्यवसाय को कानूनी रूप से पंजीकृत करना
    8. अपने मैन्युफैक्चरर या डिस्ट्रीब्यूटर से मिलना
    9. स्टॉक सूची प्रबंधन
    10. सही स्टाफ की भर्ती
    11. उत्पाद मूल्य या मार्जिन निर्धारण
    12. अपने व्यवसाय की मार्केटिंग

  4. क्या कपड़े का बिज़नेस एक अच्छा व्यवसाय है?

    भारत में कपड़ों की दुकान का व्यवसाय वास्तव में फायदेमंद है। 25 से 60% तक के लाभ मार्जिन के साथ, इसे भारत में सबसे अधिक मुनाफा देने वाले व्यवसायों में से एक माना जाता है।

  5. भारत में कपड़ों की दुकान का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

    कोई भी रेडीमेड गारमेंट बिजनेस प्लान मजबूत बिजनेस प्लान के बिना अधूरा है। कपड़ों की दुकान का व्यवसाय वास्तव में लाभदायक हो सकता है, भारत में कपड़ों की दुकान का व्यवसाय शुरू करने के लिए देखें: business ideas in hindi
    1. निवेश के लिए धन इकट्ठा करें
    2. जीएसटी पंजीकरण प्रक्रिया समाप्त करें
    3. बुद्धिमानी से स्थान चुनें
    4. छोटे पैमाने के व्यवसाय से शुरू करें
    5. प्रतियोगिता अनुसंधान करें
    6. उचित आपूर्तिकर्ता ढूँढना
    7. ब्रांडिंग के साथ बिज़नेस करें
    8. स्टॉक अपडेट रखें
    9. अपना विक्रय आइटम चुनें
    10. अतिरिक्त कर्मचारी किराए पर लें
    11. काम के घंटे प्रबंधित करें
    12. आकर्षक ऑफ़र और छूट दें
    13. बहीखाता पद्धति सीखें

  6. क्या कपड़ों का व्यवसाय शुरू करना कठिन है?

    शुरुआत करते समय हर व्यवसाय के अपने फायदे और नुकसान होते हैं लेकिन हर किसी के पास शुरू करने के लिए जोखिम कारक नहीं होता है। कपड़े का व्यवसाय लाभदायक है लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि बाजार के उतार-चढ़ाव से चिपके रहना है।

  7. खुदरा में कपड़ों के लिए लाभ मार्जिन क्या है?

    यह आम तौर पर 5 से 30 प्रतिशत की सीमा के भीतर होता है।

  8. ‘रेडीमेड गारमेंट्स’ शब्द का क्या अर्थ है?

    यह उन कपड़ों को संदर्भित करता है जो पूरी तरह से पहनने के लिए तैयार हो गए हैं और बिना किसी अन्य काम के हुक से पहने जा सकते हैं। वे विभिन्न आकारों में पहले से ही उपलब्ध होते हैं और आपको सिर्फ अपने आकार का चुनना होता है।

😊 यह पोस्ट कितनी अच्छी थी?

5 Star देकर इसे बेहतर बनाएं ⬇️

Average rating 5 / 5. Total rating : 17

रेटिंग देने वाले पहले व्यक्ति बनें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

“रेडीमेड गारमेंट्स बिज़नेस कैसे शुरू करें? | online readymade garments business plan in hindi in india” पर 2 विचार

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.