छोड़कर सामग्री पर जाएँ

Credit Score : स्टूडेंट्स अपना क्रेडिट स्कोर कैसे बेहतर बनाएं

0
(0)

क्रेडिट स्कोर : अपना खुद का क्रेडिट स्कोर बनाना अलग ही अनुभव है. जब आप स्टूडेंट होते हैं और अपना क्रेडिट स्कोर देखते हैं तो वह आपको निराश करता है. ऐसे में आप चाहते हैं कि सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाएं.

😍तो दोस्तों, आइये जानते हैं कुछ टिप्स जिनसे आप अपना क्रेडिट स्कोर बेहतर बना सकते हैं

1. क्रेडिट कार्ड का सही उपयोग करें

यदि आपके पास इनकम प्रूफ है तो क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं. कुछ बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनीज ऐसी भी है, जो बिना किसी इनकम प्रूफ के स्टूडेंट्स को क्रेडिट कार्ड देती हैं. ये क्रेडिट कार्ड विशेष रूप से स्टूडेंट्स के लिए तैयार किये जाते हैं, इसलिए इन्हें पाना काफी आसान है. हालांकि, इन क्रेडिट कार्ड की लिमिट कम होती है. इन क्रेडिट कार्ड का कोई भी उपयोग कर सकता है, आप बुक्स खरीद सकते हैं, रजिस्ट्रेशन फीस दे सकते हैं, अन्य दैनिक खर्चों का भुगतान कर सकते हैं, आदि.

क्रेडिट कार्ड के बिल को समय पर चुकाएं और अनावश्यक खर्चों से बचें. क्रेडिट रिपोर्ट में बेहतर सिबिल स्कोर बनाने के लिए आपको क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना होता है या लोन लेना पड़ता है. क्रेडिट कार्ड से क्रेडिट स्कोर बेहतर बनाना सबसे आसान और किफायती विकल्प है. यदि आप लोन लेकर क्रेडिट स्कोर बढ़ाने का सोचते हैं तो इसमें आपका ब्याज लगता है. लेकिन क्रेडिट कार्ड में समय पर पैसे वापस चुकाने पर किसी तरह का कोई अन्य शुल्क या ब्याज नहीं है.

2. बड़ी खरीदारी से बचें: 

अगर आप क्रेडिट कार्ड से कुछ खरीदते हैं तो हमेशा कम अमाउंट में और नियमित खरीदारी करें. क्रेडिट उपयोग को हमेशा कम रखने पर ध्यान दें. अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट को पूरा ना करें. ऐसे में आप इमरजेंसी के समय इसकी मदद ले पाएंगे.

3. एजुकेशन लोन का लाभ उठाएं: 

अगर एजुकेशन लोन लेते है तो ये आपके क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने में काफी मदद कर सकता है. अगर आप समय पर अपने लोन को चुका देते हैं तो ये क्रेडिट स्कोर को जल्दी बढ़ाने में मदद करेगा. एक अच्छा क्रेडिट स्कोर समय पर लोन की किस्ते (ईएमआई) चुकाने पर निर्भर करता है.

4. दोस्तों के लिए कभी भी कोसाइन न करें: 

आप कभी-कभार विश्वास पात्र दोस्तों के लिए cosign कर सकते हैं, लेकिन हर मामले में इससे बचना चाहिए. अगर आपका दोस्त लोन चुकाने में कोई चूक करता है तो उसका खामियाजा आपको भुगतना पड़ेगा, यानि आपका क्रेडिट स्कोर प्रभावित होगा. ऐसी स्थिति में cosigner और गारंटर को लोन चुकाना पड़ सकता है. हमेशा ऐसी स्थिति से बचे जहाँ क्रेडिट स्कोर को रिस्क हो. अगर आप अपना क्रेडिट स्कोर खो देते हैं तो फिर आपको भविष्य में लोन और क्रेडिट जैसी सुविधाएँ नहीं मिलेगी.

5. जल्दी बचत करना शुरू करें:

अगर आप जल्दी बचत करना शुरू कर देते हैं तो ये एक अच्छी आदत बन जाती है. यदि कोई स्टूडेंट कम उम्र ही बचत करना सीख जाता है तो ये उसके भविष्य के लिए अच्छे संकेत हैं. ये पैसे जोड़ने में काफी मदद करता है, जिससे आवश्यक महंगी चीजे भी समय पर खरीद सकता है. कम उम्र में पैसों का मैनेजमेंट और अनुशासन उसे सफल बनाता है. आप पैसे बचाने के लिए कुछ टिप्स यहाँ पढ़ सकते हैं.

इसलिए, जल्दी बचत शुरू करें, अनुशासित तरीके से खर्च करें, एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाएं और आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनें. अगर आप जानना चाहते हैं कि 500 से 800 तक सिबिल स्कोर कैसे ले जाया जा सकता है, तो इस आर्टिकल को पढ़ें.

आप हमेशा हँसते रहें, मुस्कुराते रहें

धन्यवाद!

FAQs

  1. क्रेडिट स्कोर बढ़ाने के लिए क्या करे?

    1. बकाया राशि को नियत समय पर जमा करें
    2. क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट समय पर करें
    3. अधिक जगह लोन के लिए एक साथ अप्लाई ना करें
    4. कई जगह से लोन ना लें
    5. अपनी क्रेडिट रिपोर्ट की जाँच करें
    6. अपनी ईएमआई समय पर या पहले भुगतान करें
    7. बार-बार अलग अलग जगह क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई ना करें.

  2. एक अच्छा क्रेडिट स्कोर कितना होता है?

    800 या उससे अधिक का स्कोर सबसे अच्छा माना जाता है. अधिकांश लोगों का क्रेडिट स्कोर 600 और 750 के मध्य मिलता है.

  3. एक क्रेडिट स्कोर क्या होता है?

    क्रेडिट स्कोर 300 और 850 के बीच की एक संख्या है, जो कस्टमर की साख को दिखाती है. क्रेडिट स्कोरिंग में साख के मापने के कुछ कारक है, पुनर्भुगतान इहिस्ट्री, लोन के प्रकार, क्रेडिट हिस्ट्री अवधि और एक व्यक्ति का कुल लोन कितने हैं.

😊 यह पोस्ट कितनी अच्छी थी?

5 Star देकर इसे बेहतर बनाएं ⬇️

Average rating 0 / 5. Total rating : 0

रेटिंग देने वाले पहले व्यक्ति बनें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *