छोड़कर सामग्री पर जाएँ

[ 7 Tips] आर्थिक रूप से मजबूत कैसे बने | Money Management in Hindi

1
(1)

हम कहाँ रह रहे हैं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि हर जगह हम वित्तीय प्रभाव को देख सकते हैं. सभी का एक ही सवाल है , आर्थिक रूप से मजबूत कैसे बने और वो तभी होगा जब हमें पैसों का मैनेजमेंट आएगा. यदि आपने आजतक मनी मैनेजमेंट की ताकत को नजर अंदाज किया है तो आज मत कीजिए अगर आप सच्ची में Money Management in Hindi के बारे में जानना चाहते हैं तो कुछ देर हमारे साथ अपना कीमती समय गुजारे और हम आपके वक़्त की पूरी वैल्यू देने की कोशिश करेंगे.

आज हम जो भी बताएंगे वो सब करना मुश्किल है लेकिन अगर ईमानदारी करोगे तो जल्दी ही मजबूर बनना तय है.

आर्थिक स्थिरता हमारी मनी मैनेजमेंट की अच्छी आदतों से ही संभव है। हम यहाँ ज्यादा गहराई में तो नहीं जाएंगे लेकिन ये 7 तरीके ‘आर्थिक रूप से मजबूत कैसे बने’ , इस सवाल का जवाब आप तक जरूर पहुंचा देंगे.

इन्हीं सामान्य और महत्त्वपूर्ण चर्चा के साथ आगे बढ़ते हैं.

1. पैसा बचाकर | जानें पैसे कैसे बचाए


ये सबसे बेहतरीन आदत है, और आप इसे जितना जल्दी अपना लेंगे, आपके लिए बेहतर है. आपको क्यों बचाना चाहिए? ये जानना है तो आप खुद से पूछो- क्या आपके पास पर्याप्त पैसा है?, क्या आप और अधिक पैसा बनाना चाहते हो? , क्या आप पूरी जिंदगी कमा सकते हो?
सवाल और भी बहुत है, ऐसे आप पहचान सकते हैं कि आपको पैसे बचाने हैं या नहीं.

Money Saving का सीधा तरीका है जितना कमाते हो उससे जितना हो सके कम खर्च करो.

विशेषज्ञों के अनुसार, अपनी आदर्श जीवनशैली को बनाए रखने के लिए अपनी आय का कम से कम 25-30% बचाना चाहिए. चाहे आप किसी भी उम्र में सफर कर रहे हो, अभी नए-नए जॉब लगे या रिटायरमेंट हुए हो लेकिन बचत जरूरी है.

अगर आपको लगता है कि मैं अच्छे पैसे बना रहा हूँ, मुझे बचाने की क्या जरूर है तो आपको पुनर्विचार की सख्त जरूरत है और ध्यान रहे जब परेशानियां आती है तो Money Saving ही बचा पाती है और परेशानियों का आने का वक़्त नहीं होता.

2. अपने खर्चों पर नज़र रखें

अगर आपको अधिकतम सेविंग्स करनी है तो ये इम्पोर्टेन्ट है कि आप अपने खर्चों पर निगरानी रखें. इसमें आपको सिर्फ इतना करना है, रोज शाम को अपने खर्चों की लिस्ट बनाएं और देखें कि हमारे पैसे अधिक कहाँ जा रहे हैं और हम ऐसी कौनसी चीज पर खर्च कर रहे हैं जो अनावश्यक है.
बस ये दो बातें ध्यान रखलो फिर इनपर विचार करो.

अधिक् खर्च होने वाले खर्चों को जितना हो सकता है कम करने की कोशिश करें और अनावश्यक तथा अमीर दिखने के चक्कर मे किए जाने वाले खर्चों को लगाम दें.

ध्यान रहे अमीर दिखने का शौक आपको कभी अमीर नहीं बना सकता…

3. जोश में खरीदारी न करें

जोश में खरीददारी का मतलब केवल कुछ महंगा खरीदना नहीं है, ये शौक में आर्डर किया हुआ खाना भी हो सकता है.

ये पैसा हम बचा सकते थे लेकिन नहीं बचाया – हमारा पुराना जैकेट अच्छी कंडीशन में था फिर भी नया जैकेट लिया, घर खाने की बजाय होटल में खाया, रोज पार्टी में गए, ऐसी ही आदते बहुत सी हैं जो आप आसानी से पहचान सकते हैं.

कभी किसी को देखकर कुछ ना खरीदे. हमेशा अपनी जरूरत को ध्यान में रखते हुए खरीददारी करें.

अपने आर्थिक स्तर को उठाने के लिए आवेग में खरीददारी से बचना होगा. एक बात का और ध्यान रखे, कभी भी भविष्य में काम आने वाली चीजें आज ना खरीदे, अगर उनमें समय के साथ कीमत कम होने वाले चीजे शामिल हो तो बिल्कुल भी नहीं।
अगर आप खरीदना चाहते हैं तो जमीन, फ्लैट और शेयर्स खरीदिए.

4. भविष्य में निवेश करें

यदि आप सोच रहे हैं कि Money Saving किसके लिए कर रहे हैं तो इसका जवाब आप स्वयं हैं.
जब आपको आगे लंबी छूटी लेनी पड़े, कुछ सालों में कार लेने की इच्छा हो, एक अच्छा घर खरीदना है या रिटायरमेंट के बाद देश- विदेश घूमना हैं तो इन सबमें सेविंग्स के महत्व को आप समझ सकते हैं.

पैसों का महत्व और भविष्य में निवेश को अच्छे से समझना है तो आप कोरोना की समस्याओं को देख सकते हैं. जिसने अच्छी बचत की वो आसानी से इस समस्या से जीत गया, और जिन्होंने नहीं की थी उनके हालात से तो आप वाकिफ है.

आपको पता है कि बरसात का मौसम है, तो आप पहले ही घर मे छाता लाकर रख दोगे, ऐसा तो नहीं है कि अभी बरसात हुई और आप छाता लाने जाओगे. ऐसे में तो आप उस समस्या में फंस जाओगे.

इसलिए भविष्य की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए हमे आज पैसे बचाने हैं या भविष्य में अच्छा रिटर्न्स देने वाली चीजों में निवेश करने है. जैसे:- रियल एस्टेट, शेयर्स तथा अन्य प्रोपर्टी जिनके समय के साथ अच्छे पैसे बढ़ते हैं.

आपका आज का निवेश आपको जल्दी रिटायरमेंट होने में मदद कर सकता है जिससे अपनी जिंदगी को एन्जॉय कर पाएंगे. अब आप फैसला करलो, 60 वर्ष की उम्र में रिटायरमेंट लेना है या 45 के बाद ही.

5. कर्ज को ट्रैक और समय पर भुगतान करें

हम सब जिस तरह समान नहीं हिट वैसे ही लोन या ऋण समान नहीं होते. किसी लोन की ब्याज दर बहुत अधिक तो किसी की बहुत कम होती है.
हर महीने ट्रैक करें कि आप पर कितना बकाया है और पिछले महीने से कितना कम या अधिक हुआ.
हमेशा समय पर भुगतान करें और अतिदेय से बचे. ध्यान रखे, अधिक ब्याज दर के कर्ज का पहले भुगतान करें.

6. उधार लेने से बचें (पैसे कैसे बचाए)

ये एक कैंची है जो आपकी बेवजह जेब काटती है और अनावश्यक चीजे लेने की और आपको अग्रसर करती है.
तुरन्त पैसे नहीं देने के लालच में आप जो ना चाहिए वो भी ले आते हो और जब उधार जमा कराने की बात आती है तब अहसास होता है कि हमारा निर्णय उसदिन सही नहीं था.

हमेशा कैश में चीजे खरीदिए और उधार के चक्कर से दूरी बनाइए.
आपको जो जमा कराना है, मकान किराया, बिजली बिल, इंटरनेट बिल, ऋण भुगतान या अन्य कुछ भी, इन सबको समय और ही जमा करवाए.

जिस दिन जमा करवाने है उसी दिन करवाए क्योंकि बाद में आपके पैसे कहीं भी खर्च हो सकते हैं या समय पर जमा नहीं करवाने पर पेनल्टी देनी पड़ सकती है.

7. एक बजट निर्धारित करें और उस पर डटे रहें

हमेशा अपने महीने का बजट बनाए और उसपर कायम रहें. फिक्स करें कि आपको किस जगह कितने खर्च करने हैं अगर कभी अधिक बजट चाहिए तो 2 से 3 महीने का जोड़िए फिर कोई चीज लाएं,

एक महीने के पेमेंट से कभी कोई बड़ी चीज न खरीदे, इससे आप पूरे महीने मुसीबत में पड़ सकते हैं.

समझिए, जैसे किसी जगह आपको बजट के अनुसार 500₹ खर्च करने है और लगने 1500₹ है तो आप 3 महीने इंतजार कीजिए, जब उसका बजट 1500₹ हो जाए तब खर्च करें.

अप्रत्याशित खर्चों का वहन अपनी बचत राशि से करें. अपने बजट के साथ छेड़खानी ना करें. जैसे- अस्पताल का बिल, गाड़ी की मरम्मत या अन्य.हर महीने जितने पैसे बचाने हैं उतने बचाते रहें।

ये सभी आदतें व्यक्तिगत ना रखें, पूरे परिवार के साथ सुनिश्चित करें कि आपको एक अच्छा भविष्य  चाहिए. फिर आप उन सभी चीजों के लिए हमेशा तैयार मिलोगे जो जिंदगी आपकी तरफ धकेलती रहती है।

आज का ये लेख (आर्थिक रूप से मजबूत कैसे बने) बस इतना ही, आपको कैसा लगा जरूर बताना.
अपनी पसंदगी को जाहिर करने के लिए शेयर और कमेंट जरूर कर देना.

हँसते रहिए
मुस्कुराते रहिए
धन्यवाद !

FAQ (Frequently Asked Questions)

1. पैसे कैसे बचा सकते हैं?

Money Saving आसान काम नहीं है लेकिन ठान लो तो मुश्किल भी कहाँ है. मासिक बजट रखिए और कम से कम 25-30 % की बचत फिक्स कीजिए. मासिक बजट में उन खर्चों को शामिल करें जो आपको पता है कि ये खर्च होने ही हैं. जैसे- बिजली पानी बिल, किराया, बच्चों की फीस, ईएमआई, राशन एवं कपड़े. अप्रत्याशित खर्चों के लिए बचत को रखें. कोई महंगी चीज लानी है तो उसके बजट को बचाते चले , जब पैसे जुड़ जाएं तो उस चीज को लाएं.

2. अपने बजट को छेड़े बिना एक महंगी चीज कैसे ला सकते है?

समझिए, मानलो कपड़ो का बजट 2000₹ है और आपको 6000₹ का सूट लेके आना है तो आप इस महीने के 2000₹ रुपये कपड़ो में पूरे खर्च ना करें और ऐसे ही आप 3-4 महीनों में कपड़ो के बजट से ही सूट का बजट निकाल लेंगे.

3. मासिक बजट बनाना क्यों आवश्यक है?

बजट बनाना और उसपर टिके रहना आर्थिक भविष्य को मजबूत बनाता है. बजट आपके भविष्य के खर्चो के तनाव को कम कर देता है. ये आपके लक्ष्यों को पाने में मदद करेगा.
आपको भविष्य में कार चाहिए, घूमना हो या आलीशान बंगला लेना हो तो ये सब बचत पर निर्भर करता है और आपकी बचत आपके अच्छे बजट पर निर्भर है.

4. अपने पारिवारिक बजट से आप क्या समझते हैं?

अपने परिवार का बनाया गया बजट आपके महीने के खर्चों को नियंत्रित करता है और पैसे बचाने में काफी मददगार साबित होता है. इसके लिए जरूरी होता है, बनाए गए बजट पर आपका डटे रहना. बजट की वजह से आप किसी एक चीज पर अपना पूरा वेतन नहीं खर्च कर पाओगे जिससे आपको अन्य खर्चों के लिए परेशान नहीं रहना पड़ेगा. ये एक खर्च की सीमा तय करता है जो आपको आर्थिक रूप से मजबूत बनाती है.

5. अपने घर का अच्छा बजट कैसे बनाएं?

बजट में जरूरी खर्चों को प्राथमिकता दें. खाने- पीने की जरूरी चीजों में कमी ना करें. अपने परिवार के बच्चों और बुजुर्गों को कोई खास परेशानी ना हो, इसका विशेष ध्यान रखें. अपनी आय और बचत को ध्यान में रखें क्योंकि बचत में कमी नहीं होनी चाहिए. जरूरी चीजों में भी ज्यादा और तुरन्त चाहने वाली चीजों को प्राथमिकता दे. शौक की चीजों को थोड़ा इग्नोर करना सीखें , या फिर अपने कमाने के तरीके बढ़ाए. बच्चों की फीस को महीनों में डिवाइड करें , एक महीने के वेतन से पूरी ना दें.

😊 यह पोस्ट कितनी अच्छी थी?

5 Star देकर इसे बेहतर बनाएं ⬇️

Average rating 1 / 5. Total rating : 1

रेटिंग देने वाले पहले व्यक्ति बनें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.